वीथी

हमारी भावनाएँ शब्दों में ढल कविता का रूप ले लेती हैं।अपनी कविताओं के माध्यम से मैंने अपनी भावनाओं, अपने अहसासों और अपनी विचार-धारा को अभिव्यक्ति दी है| वीथी में आपका स्वागत है |

Saturday, 31 December 2011

नया साल





नया साल



नव आशा
करता संचार
देखे संसार
हर साल
नया साल!

नव ललक
नव पुलक
भरता चलता
नव चाल
नया साल!

नई उमंग
नई तरंग
भर भर
करता निहाल
नया साल!

नव बहर
सुख लहर
जुटा लुटा
करता जाता
मालामाल
नया साल !

नया संकल्प
नए सपने
ले ले आता
मेट मलाल
नया साल!

गत के लेखे
आगत देखे
बाकी लाता
सारा माल
नया साल!

तलपट मिलता
घाटा नफ़ा
संग संग चलता
लेता सब हवाल
नया साल!

कितना खाया
कितना पीया
कहाँ घोटाला
जाने सब
कौन दलाल
नया साल!

मँहगाई की मार
खूब भ्रष्टाचार
अन्ना का अनशन
रामदेव पर प्रहार
माँगती जनता
टलता देखे
अपना लोकपाल
नया साल!

विगत भूल कर
गत में झूल कर
आगत का स्वागत
भूल घोटाले
नेता हम प्याले
नया दे खयाल
नया साल!






20 comments:

  1. नव वर्ष की हार्दिक शुभ कामनाएँ।

    सादर

    ReplyDelete
  2. बहुत बढ़िया उम्दा प्रस्तुति..
    आपको सपरिवार नववर्ष २०१२ की हार्दिक शुभकामनायें..

    ReplyDelete
  3. नव वर्ष की हार्दिक शुभ कामनाएँ।

    ReplyDelete
  4. नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  5. नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  6. सुन्दर अभिवयक्ति....नववर्ष की शुभकामनायें.....

    ReplyDelete
  7. आपकी प्रस्तुति बहुत अच्छी लगी.
    सरल शब्द और सुन्दर भावों का संयोजन किया
    है आपने.

    नववर्ष की आपको हार्दिक शुभकामनाएँ.

    मेरे ब्लॉग पर आपका हार्दिक स्वागत है.

    ReplyDelete
  8. सुंदर प्रस्तुती बेहतरीन भाव सयोजन ,.....
    नववर्ष 2012 की हार्दिक शुभकामनाए..

    --"नये साल की खुशी मनाएं"--

    ReplyDelete
  9. आपको नव वर्ष 2012 की हार्दिक शुभ कामनाएँ।
    ---------------------------------------------------------------
    कल 02/01/2012 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  10. नये वर्ष की सुन्दर व्याख्या।
    नये वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें.....

    ReplyDelete
  11. विगत विस्मृत
    आगत की सुध
    नया उत्साह
    नया उच्छ्वास
    नया साल !सुंदर अभिव्यक्ती
    नववर्ष कि बहूत बहूत शुभकामनाये

    ReplyDelete
  12. वाह! वाह! सुन्दर अभिव्यक्ति ... सादर बधाई और नूतन वर्ष की सादर शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  13. सारा लेखा जोखा....सुन्दर!१

    ReplyDelete
  14. नव वर्ष की हार्दिक शुभ कामनाएँ।....nav varsh par pyaari rachna bdhai sweekaren.... :)

    ReplyDelete
  15. बहुत सुंदर रचना है ... सुशीला जी... नव-वर्ष की ढेर सारी शुभ कामनाएँ आपको .

    ReplyDelete
  16. नव वर्ष की हार्दिक शुभ कामनाएँ

    ReplyDelete
  17. sundar rachana Sushila ji ...badhai .

    ReplyDelete
  18. नववर्ष पर एक सार्थक रचना ....!

    ReplyDelete
  19. सुन्दर प्रस्तुति........
    मेरे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।

    ReplyDelete
  20. नव वर्ष पर सार्थक रचना
    नववर्ष की आपको बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएँ.

    शुभकामनओं के साथ
    संजय भास्कर

    ReplyDelete